गेलफेंड शायरी इन हिन्दी

दिलों जान से करेंगे हिफ़ाज़त तेरी,  बस एक बार कह दे अमानत हूं तेरी.

ज्यादा गेलफेंड शायरी इन हिन्दी के लिऐ हमारी वेबसाइट मे जा सकते हे

मना भी लूंगा गले भी लगाऊंगा मैं  अभी तो देख रहा हूँ उसे ख़फ़ा करके

तुम्हारा तो गुस्सा भी इतना प्यारा लगता है कि दिल करता है दिन भर तुम्हें ही तंग करते रहें

सांसे थम गई उन्हें करीब पाकर, शिकायतें तो बहुत थीं लेकिन मोहब्बत ज़्यादह थी.

याद बनकर जो तू मेरे साथ रहती है  तेरे इस एहसान का सौ बार शुक्रिया

इससे पहले कोई और बना ले तुमको अपना, तुम मेरे हाथों में बस जाओ लकीरों की तरह.

वो लोग कितने खुशनसीब होंगे, जो तुम्हें हर रोज़ देखते होंगे

वो रख ले मुझे अपने पास कहीं क़ैद करके, काश के मुझसे कोई ऐसा क़ुसूर हो जाये। 

बात मुझसे पूरी न हो सकी साकी होंठों पे होंठ रख दिए उसने